Tag Archives: upnishada

उपनिषद ऋषियों का वचन

22 August

उपनिषद ऋषियों का वचन है – आहार शुद्धि से प्राणों के सत की शुद्धि होती है, सत्व शुद्धि से स्मृति निर्मल और स्थिरमति (जिसे प्रज्ञा कहते हैं) प्राप्त होती है, स्थिर बुद्धि से जन्म-जन्मान्तर के बन्धनों और ग्रन्थियों का नाश होता है और बन्धनों और ग्रन्थियों से मुक्ति ही मोक्ष है और बन्धनों और ग्रन्थियों [...]